रुख़ : किताबों की दुनिया में खुलने वाली नई खिड़की

सबद : हमारी साहित्यिक ई-पत्रिका

blog-img

लवली गोस्वामी की तीन नई कविताएं

November 12, 2018

लवली गोस्वामी हिंदी की युवा कवयित्री हैं। बहुत कम और लंबे-लंबे अंतराल लेकर कविताएं लिखती हैं। इसीलिए उनका स्वर ‘अर्धविरामों में विश्राम’ से बना है। सबद पर उनकी कविताएं पहली बार शाया हो रही हैं। …

blog-img

गीत चतुर्वेदी : नौ नई कविताएँ

November 12, 2018

गीत की नई कविताओंख़ास तौर पर माँ का सुमिरन करती कविताओं मेंमृत्यु-मर्म कुछ अलग रोशनी में हमारे सामने खुलता है. यह केवल मनुष्य की अनुपस्थिति और हानि-बोध तक सीमित रहतातो इसे पढ़ते हुए उदासी तारी रहती …

blog-img

व्योमेश शुक्ल की नई कविता

November 12, 2018

(एक लम्बे अंतराल के बाद कवि – और अब रंगकर्मी भी – व्योमेश शुक्ल के यहाँ कविता-सम्भव हुई है। इसका आगमन वसंत में और रघुवीर सहाय की अविस्मरणीय पंक्ति के साथ हुआ है। व्योमेश जैसे कतिपय कवियों की कविता में समयांतराल …

blog-img

अंबर रंजना पाण्डेय की चार नई कविताएं

November 12, 2018

मृत्यु का अनुवाद सम्भव नहीं वीणावादक की मृत्यु से अधिक संगीतमय थी मृत्यु अनुवादक की क्योंकि पड़ौस की एक जूनी बिल्डिंग में एक युवक इगोर स्ट्रविन्स्की का डी मेजर में वायलेन कॉन्सर्टॊ बजा रहा था। …

You've just added this product to the cart: