Geet Chaturvedi

author-geet-chaturvedi

गीत चतुर्वेदी

Geet Chaturvedi

27 नवंबर 1977 को मुंबई में जन्मे गीत चतुर्वेदी को हिंदी के सबसे ज़्यादा पढ़े जाने वाले समकालीन लेखकों में से एक माना जाता है। ‘ख़ुशियों के गुप्तचर’ उनका तीसरा कविता-संग्रह है। इससे पहले उनकी दस किताबें प्रकाशित हैं, जिनमें दो कहानी संग्रह (‘सावंत आंटी की लड़कियाँ’ और ‘पिंक स्लिप डैडी, दोनों 2010) तथा दो कविता- संग्रह (‘आलाप में गिरह, 2010 और ‘न्यूनतम मैं, 2017 ) शामिल हैं। ‘न्यूनतम मैं’ क़रीब दो साल तक हिंदी की बेस्टसेलर सूची में शामिल रहा। साहित्य, सिनेमा व संगीत पर लिखे उनके निबंधों का संग्रह ‘टेबल लैम्प’ 2018 में आया।

कविता के लिए गीत को भारत भूषण अग्रवाल पुरस्कार तथा गल्प के लिए कृष्णप्रताप कथा सम्मान, शैलेश मटियानी कथा सम्मान व कृष्ण बलदेव वैद फेलोशिप मिल चुके हैं। ‘इंडियन एक्सप्रेस’ सहित कई प्रकाशन संस्थानों ने उन्होंने भारतीय भाषाओं के सर्वश्रेष्ठ लेखकों में शुमार किया है।

गीत चतुर्वेदी की रचनाएँ देश-दुनिया की 19 भाषाओं में अनूदित हो चुकी हैं। उनकी कविताओं के अंग्रेज़ी अनुवाद का संग्रह ‘द मेमरी ऑफ़ नॉउ’ 2019 के बसंत में अमेरिका से प्रकाशित हुआ। उनके नॉवेला ‘सिमसिम’के अंग्रेज़ी अनुवाद (अनुवादक अनिता गोपालन) को‘पेन अमेरिका’ ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रतिष्ठित पेन-हैम ट्रांसलेशन ग्रांट’अवार्ड किया है। गीत चतुर्वेदी इन दिनों भोपाल रहते हैं।